Tag » Yakub

Salman Khan is an Idiot and an ignorant jerk; but should Yakub be hanged?

A Murder is barbaric in every sense. It is no different when it is done by the state. When done by state, a murder does not automatically become an act of sanctity. 251 kata lagi

Articles

याकूब मेमन प्रकरण व पीड़ित मन

भारत ही एकमात्र विचित्र देश होगा जहां एक राष्ट्रद्रोही आतंकवादी याकूब को फांसी की सजा पर भी दो राय हो । मीडिया में बैठे कुछ राष्ट्रद्रोही पत्रकार इस विषय को चर्चा में लाकर प्रमाणित कर रहें कि उनकी श्रद्धा राष्ट्र के प्रति नहीं है । संभव है इस कार्य के किये उन्हें भारत विरोधी राष्ट्रों द्वारा कुछ टुकड़े भी डाले गए हों । कुछ अधम व पतित पत्रकारों नें तर्क देनें का प्रयास किया है कि कुछ अन्य मामलों में सजा नहीं हुई इसलिए इस मामले में भी क्यों? इस सम्बन्ध में प्रश्न है की क्या उनके द्वारा इंगित मामलों में चार्जशीट दायर हो गयी क्या किसी भी न्यायालय ने उन्हें दोषी सिद्ध कर दिया ? क्या याकूब मामले की तरह उन मामलों में न्याय के सभी उपाय पूर्ण हो गए। उनके द्वारा बार बार चर्चा में लाये गए एक भी मामले में अंतिम चार्जशीट दायर नहीं हो सकी है ना ही अपराध सिद्ध होनें की कार्यवाही ही प्रारम्भ हो सकी है । इस प्रकार के कई मामले मात्र भगवा आतंकवाद सिद्ध करने के लिए व अल्पसंख्यकों संतुष्ट करने के लिए बनाये गए थे । इन मामलों को बनाने के पीछे एक और कारण था कि सामान्य हिन्दू के मन में भी हिंदुत्व को लेकर अपराध बोध हो । वैश्विकस्तर पर हिन्दू आतंकवाद को स्थापित करने का कुटिल प्रयास था । ऐसे पतित कार्य में सहयोग के लिए जयचंद तो हर काल में हुये ही हैं । एक सामान्य बुद्धि मनुष्य भी कल्पना कर सकता है कि यदि हिन्दू आतंकवाद पर आ जाता तो भारत की आजादी के बाद के वर्षों में भारत से ईसाई व मुस्लिम समाप्त हो जाते जैसे बांग्लादेश व पाकिस्तान से हिन्दू समाप्ति पर हैं तथा जैसे काश्मीर घाटी से हिंदुओं को पलायन करना पड़ा । वैसे भी हिंदू तो “वसुधैव कुटुम्बकम्” का भाव धारण करता है किन्तु उसके मन में भारतीय मुस्लिमों व ईसाईयों के प्रति तो विशेष भ्रातृत्त्व भाव है क्योंकि भारत के समस्त ईसाई व मुसलमानों के पूर्व पुरुष हिन्दू ही हैं । मुग़लों व अंग्रेजों के शासन में वर्तमान मुस्लिमों व ईसाइयों के पूर्वज जो हिन्दू ही थे द्वारा लोभ या भय से पूजा की पद्धति बदली गई । पूजा पद्धति बदली गई यहां तक तो ठीक था किन्तु दुःख तो यह है कि पूजा पद्धति बदलने के बाद उनमें से कई अपने पूर्वजों को व भारत माँ को भी भुला बैठे । पूजा पद्धति परिवर्तन के बाद राष्ट्र व राष्ट्र निर्माता पूर्वजों ऋषियों को अपना ना मानना ही आतंकवादी होने का मुख्य कारण है और यही कारण है आतंकवादियों को सजा देने पर उनका साथ देनें का । यदि कोई भी मुस्लिम व ईसाई राष्ट्र के प्रति समर्पित हो और भारत राष्ट्र को बनाने वाले ऋषियों व महापुरुषों को अपने पूर्वज के रूप में स्मरण करे तो भारत भू के साथ स्वाभाविक जुड़ाव हो जाएगा तथा सभी समस्याएं समाप्त हो जाएंगी । भारत भूमि पर आक्रमण कर उसे पददलित करने वाले मुगलों व अंग्रेजों को जब तक अपने पूर्वजों के रूप में देखेंगे या उनसे सम्बन्ध जोड़ने का प्रयास करेंगें भारत भू को नष्ट करने के लिए यह लोग कदम बढ़ाते ही रहेंगे । याकूब जैसे कई नीच पैदा होंगे व कई राष्ट्रद्रोही उसके समर्थन में खड़े दिखाई देंगें और कुछ मूर्ख हिन्दू, मीडिया के आकर्षक दुष्प्रचार में फँस खुद को राष्ट्रद्रोही सिद्ध करने की दौड़ में सम्मिलित हो जायेंगें ।
भारत हमारी माँ है माता का रूप प्यारा ।
करना इसी की रक्षा कर्त्तव्य है हमारा ।।
यदि यह भाव लेकर हम सभी एक साथ चलें तो भारत को पुनः विश्व गुरु पद पर प्रतिष्ठित होते देख सकते हैं ऐसा मेरा विश्वास है ।

Berdamai

Segeralah berdamai dengan lawanmu selama engkau bersama-sama dengan dia di tengah jalan, supaya lawanmu itu jangan menyerahkan engkau kepada hakim dan hakim itu menyerahkan engkau kepada pembantunya, dan engkau dilemparkan ke dalam penjara… 360 kata lagi

Bible Story

Making of the American "Nigga" Pt. 1

“Niggas” must be killable before they are “killed”! – By. Akil

  1. 7 kata lagi
Yakub

The Ant & The Elephant : Their Misery Loves Your Company

They constantly keep giving across the fabricated idea that they are the end all be all and strive to many extensive lengths to give across the idea that they are superior people. 936 kata lagi

Yakub

Human Artificial Pt. 5 - Similar Traditional Accounts in the Grafting Experiment

There are a surprising number of traditional accounts agreeing with the creation of “Man-Kind”…the making of a kind of man. The whiteman.

(Watch Frankenstein movies). 515 kata lagi

Yakub