Tag » Ayub

फर्रुखाबाद की ट्रेन में मुस्लिम यात्रियों पर हमला एक बार फिर जुनैद काण्ड को दोहराने की कोशिश- रिहाई मंच

पुलिस ने लचर विवेचना कर पहलू खान के हत्यारोपी को दिलवाई जमानत

मोहसिन, अखलाक, अयूब और अब पहलू खान के हत्यारोपियों को जमानत से हत्यारों के हौसले होंगे बुलंद

लखनऊ 14 जुलाई 2017। रिहाई मंच ने फर्रुखाबाद की एक ट्रेन में मुस्लिम यात्रियों पर हुए सांप्रदायिक हमले को एक बार फिर यूपी में जुनैद काण्ड को दोहराने की कोशिश करार दिया। मंच ने पहलू खान मामले में आरोपी रवीन्द्र की जमानत पर टिप्पड़ी देते हुए कहा कि जिस तरह से लचर विवेचना से पुलिस मोहसिन, अखलाक, अयूब और अब पहलू खान के हत्यारोपियों को जमानत दिलवा रही है उससे साफ है कि सरकार ऐसा कर उन हत्यारोपियों के हौसले का बुलंद कर रही है जिससे वो इस तरह की हिंसा और करें।

आवामी काउंसिल फार डेमोक्रेसी एण्ड पीस के महासचिव असद हयात ने कहा कि जयपुर हाईकोर्ट ने पहलू हत्याकांड के आरोपी रविन्द्र को जमानत दे दी है। इस घटना की कई सीडियां हैं जिनको पुलिस ने विवेचना में शामिल नहीं किया है। पुलिस ने जानबूझकर रवीन्द्र की शिनाख्त पहलू के घायल लड़कों और अन्य पीड़ितों से नहीं कराई जो गिरफ्तारी के तीस दिनों के भीतर होनी आवश्यक थी। इससे स्पष्ट है कि पुलिस द्वारा रवीन्द्र और अन्य आरोपियों को बचाने के लिए पूरे प्रयास किए गए हैं। रवीन्द्र की जमानत ने साफ किया कि पुलिस इस घटना की निष्पक्ष विवेचना नहीं कर रही है।

फर्रुखाबाद की एक टेªन में मुस्लिम यात्रियों के साथ हिंसा पर रिहाई मंच प्रवक्ता शाहनवाज आलम ने कहा कि जिस तरह से टेªन का शीशा तोड़कर दर्जनों हमलावरों ने ‘मुल्ले हैं मारो इन्हें’ कहकर हमला किया और महिलाओं के साथ अभद्रता की उसने एक बार फिर साबित कर दिया है कि जुनैद जैसी घटना को यूपी में दोहराने की कोशिशें लगातार जारी हैं।

गौरतलब है कि 53 साल के शाकिर अपनी फैमिली के साथ फर्रुखाबाद-शिकोहाबाद पैसेंजर ट्रेन में सफर कर रहे थे। कुछ लोग ट्रेन में चढ़े और महिलाओं के साथ छेड़खानी शुरू कर दी जब इस छेड़छाड़ का विरोध किया तो शाकिर के परिवार और उन लोगों के बीच बहस होने लगी। उन लोगों ने फोन करके अपने साथियों को बुला लिया और परिवार से मारपीट शुरू कर दी। पीड़ितों पर रॉड से हमला किया गया। उन लोगों ने न सिर्फ उन्हें लूटा बल्कि औरतों के साथ बदतमीजी भी की। उन्होंने मानसिक तौर पर कमजोर उनके 17 साल के बेटे पर भी रहम नहीं खाया। शाकिर के सिर और हाथ में गंभीर चोटें आईं हैं। शाकिर के साथ उनकी पत्नी आसिया, बेटी अर्शी, तीन बेटे अरासान, फैजान, फिजू, शाकिर के भाई आरिफ, उनके भतीजे, शाकिर के साले शाहिद और उनकी दो बहनें शहनाज और मेनाज भी जख्मी हुए हैं। इनमें चार के सिर में चोट आई है। चार के हाथ में फ्रैक्चर हुआ है।

The Feminist

THE UNTHINKABLE REWARD

Hari ini giliran aku untuk bahas pasal terakhir dari Ayub 40-42.

Dengan segala cobaan yang Tuhan kasih ke Ayub, kita bisa lihat keteguhan hati dia untuk tetap setia. 128 kata lagi

Jpcc Date

'Bad Day'

Bayangkan 5 menit setelah anda membaca cerita ini, handphone anda berbunyi, sebuah nomor asing yang tidak anda kenal menelpon anda, dan dengan penuh kebingungan anda mengangkat telpon tersebut. 636 kata lagi

Bible

Norwegian meets his 2 Samaritans for first time

(Source: www.straitstimes.com)

Had Mr Mohamed Ayub Shaik Dawood and Mr Roslan Zainal kept silent, no one would be any the wiser.

But speak out they did. 656 kata lagi

Current Affairs